Tag Archives: imagination

कल्पना

​आसमान क्या पेड़ है कोई,                     जिसके तारे जैसे फल। लटके रहते जो शाखों पर,                     टीम-टीम करते रात -भर। कोई छोटा … Continue reading

Posted in Poetry | Tagged , , | 1 Comment