Monthly Archives: January 2014

इन्दौरी खऊ…

अपने सभी इन्दौरी दोस्तों के डेली डाईट प्लान को पंक्तियों में व्यक्त करूँ तो कुछ ऐसी रचना बनती है। भिया राओम सूबे-सूबे पेली फुर्सत मे पोए बनऊ… सेउ-जीरवन-कतरा प्याज अलग से मिलऊ… एसा मतलब, भरी दोपेर मे TI में जऊ… … Continue reading

Posted in Poetry | Tagged , , , | 2 Comments