Monthly Archives: December 2013

बिता महिना…

बिता महिना गुज़रा साल, बदला-बदला सबका हाल । मेरा तो बस एक सवाल, क्या कुछ बदला पिछले साल ।। कितना सोचा पिछले साल, क्या-क्या करना है इस बार । लो फिर आ गया अगला साल, क्या कुछ होगा अबकी बार … Continue reading

Posted in Poetry | Tagged , , | Leave a comment

मैंने देखा है…

नज़रिया बदलते देर नहीं लगती, मैंने इंसा को बदलते देखा है । सांसो की आहट जाने कब थम जाये, मैंने तुफानो को थमते देखा है । उम्मीदें बिखरते देर नहीं लगती, मैंने ख्वाबो को टूटते देखा है । गुलज़ार से … Continue reading

Posted in Poetry | 3 Comments

माँ…

मेरा मान है माँ, सम्मान है माँ, अभिमान है माँ, तुझे सलाम है माँ ।। मेरी जान है माँ, जहान है माँ, भगवान है माँ, तुझे प्रणाम है माँ ।। मेरी आस है माँ, प्रयास है माँ, विश्वास है माँ, … Continue reading

Posted in Poetry | Tagged , , | Leave a comment

आज…

खूले हुए जहान मे, गिरे हुए महान है । झुके हुए समाज मे, रुढीयां सम्मान है । कौढियों के भाव मे, बिका हुआ ज़मीर है । समय के इस आभाव मे, फंसी हुई सी नाव है । रुके हुए से … Continue reading

Posted in Poetry | Leave a comment